बालो को झड़ने से रोकने के 20 आसान तरीके (100% Guaranteed Hairfall solution)

How to control hair loss in hindi
How to control hair loss in hindi

बालो का गिरना कैसे बन्द करें 20 आसान तरीके !

How to control hair loss in hindi

Baalo Ka Jhdna Kese Roke

बाल मनुष्य के शरीर में एक ऐसी चीज़ है जिसके ना होने पर उसके व्यक्तित्व में बहुत बड़ी गिरावट आ सकती है। चेहरे की सुंदरता बनाये रखने के लिए बालो का योगदान सबसे अधिक है। इसके ना होने पर आप 20 की आयु में ही 40 के लगने लगे जाते है। जिस से आप अपना कॉन्फिडेंस बहुत जल्द ही खो देते है और हर काम मे फिर आपको निराशा ही हाथ लगती है। ऐसे में आपको जरूरी है कि आप विवेक से काम लें ना कि घबराहट में आकर किसी भी केमिकल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें । आप ऐसा कर के बालों के गिरना ओर अधिक बढ़ा सकते हैं। ऐसी स्थिति में जरूरी है कि आप पहले टेंसन फ्री हो जाये क्योंकि किसी भी तरह का मानसिक तनाव आपके बालों की गिरने की समस्या को ओर अधिक बढ़ा सकती है। इसके बाद आप अपने बालों के गिरने का कारण ढूंढे क्योंकि इसके बहुत से कारण हो सकते है और हर कारण का अलग इलाज होता है। चलिए तो आगे पढ़ते हैं बालो के गिरने का कारण ओर उनका इलाज।
HAIR LOSS CAUSES IN HINDI
HAIR LOSS CAUSES IN HINDI

बालों के असमय झड़ने के प्रमुख कारण (Cause of hair loss)

Balon k jhadne k parmukh karan

असमय बालो के झड़ने, गिरने के बहुत से कारण हो सकते है। समान्यतः आजकल बालो का झड़ना टीन एजर्स में ज्यादा देखा जा रहा है। 18 साल की आयु में ही कुछ युवाओ में हेयर फॉल की समस्याएं देखने को मिली है। मुख्यतः इनके कारण अनियमित दिनचर्या, प्रदूषण, टेलोगेन एफलुविम, मानसिक तनाव , हार्मोनल बदलाव या अनुवांशिक कारण होते है। आइये इन सभी कारणों पर स्पष्टता के साथ नज़र डालते हैं।

पोषक तत्वों की कमी (Nutritional deficiencies)
आपके भोजन में यदि पोषक तत्वों की कमी है जैसे आयरन, कॉपर, जिंक, प्रोटीन आदि तो निश्चित ही आपको बाल झड़ने की समस्या हो सकती है। जिस तरह हमारे शरीर के अन्य अंगों को विटामिन व मिनरल्स की आवश्यकता होती है ठीक उसी तरह बालो को भी उनके विकास और पोषण के लिए इन तत्वों की आवश्यकता होती है। बालों के विकास और टूटने से रोकने के लिए कुछ पोषक तत्वों की आवश्यक होतें है। जैसे विटामिन्स ए, बी, सी, डी, ई, बी कॉम्प्लेक्स, आयोडीन, मेग्निशियम,कॉपर, आयरन, फॉसफोरस, सिलीकॉन और पोटेशियम।
अतः आपको उसके लिए एक पोषक व सतुंलित आहार की आवश्यकता है। अगर आप घर से बाहर नोकरी या पढ़ाई करते है और आप समय पर एक संतुलित और पोषक आहार नही ले पा रहें है तो में आपको सलाह दूंगा आप एक अच्छे हेयर सपप्लिमेंट की जो आपकी सभी आवश्यक तत्वों की जरूरतों को पूरा करेगा। Follihair Tablet एक अच्छा हेयर सपप्लिमेंट हो सकता है आपके लिए। इसका रिव्यु भी मेने इसी ब्लॉग में किया है जिसे आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर पढ़ सकते हैं।

 Read this also - Follihair Tablet in Hindi

हार्मोन्स का तेजी से बदलना हेयर फॉल की वजह ( Hormonal Imbalance )
शरीर मे हार्मोन्स का बदलाव एक प्राकर्तिक प्रकिर्या है जो उम्र के साथ होना निश्चित है चाहे वो फिर पुरुष हो या महिला। पर अगर हार्मोन्स में तेज़ी से बदलाव आता है तो इसका बुरा असर हमारे बालो पर देखने को मिलता है। महिलाओ में ये समस्या ज्यादा देखने को मिलती है क्योंकि ऐसा उनमे DHT के रूपांतरण के कारण होता है। एण्ड्रोजन जो कि एक मुख्य हार्मोन है जो महिलाओं के शरीर मे बनता है यह हार्मोन एक निश्चित अवधि के बाद DHT में रूपांतरित होने लग जाता है जिस वजह से महिलाओं में उस निश्चित अवधि के दौरान बालो के गिरने की समस्या देखने को मिलती है। पुरषों में भी बिल्कुल इसी तरह हार्मोनल बदलाव बालो के स्वस्थ्य को प्रभावित करते है ओर उनमे भी इसी दौरान हेयर फॉल की समस्या देखने को मिलती है। अगर आप भी ऐसी स्थिति से गुज़र रहें है तो बिल्कुल तनाव ना लें यह समस्या एक अवधि के बाद स्वतः ही सही हो जाएगी

थायरॉयड समस्या (Thyroid problem)
इस समस्या में थायरॉयड ग्रन्थि, थायरॉयड हार्मोन का अत्यधिक या बहुत कम उत्पादन करने लग जाती है जिसका दुष्प्रभाव आपको आपके बालों में देखने को मिलता है। यह हार्मोन कुछ समय बाद DHT में रूपांतरित हो जाता है और बालों की जड़ो को ब्लॉक कर देता है जिस से बाल झड़ जाते हैं और नए बाल नही उग पाते। यह एक गंभीर समस्या है क्योंकि इसका असर सिर्फ आपको बालो पर ही नही बल्कि वजन का अत्यधिक बढ़ जाना या कम हो जाना, सर्दी या गर्मी के प्रति अत्यधिक संवेदनशीलता और हृदय-गति में परिवर्तन पर भी दिखता है। ऐसी स्थिति में आप चिकितस्य सलाह लेकर थायरॉयड का इलाज करवाएं बाली की समस्या स्वतः ही सही हो जाएगी।

टेलोगेन समस्या (Telogen Effluvium)
Telogen Effluvium एक प्रकार का स्कैल्प डिसऑर्डर है जो टेलोजेन चरण (बालों के रोम के आराम चरण) में होती है। इसके अलावा Telogen Effluvium अत्यधिक वजन कम होने पर, किसी सर्जरी के बाद या शिशु को जन्म देने के बाद भी हो सकता है। इसका असर 2 से 4 महीने कि अवधि तक होता है जिस दौरान बाल पतले होकर झड़ने लगते है पर एक निश्चित अवधि के बाद यह रुक जाता है और नए बाल आना शुरू हो जाते है। अगर आपने अभी अभी अत्यधिक वजन कम किया है या किसी ऑपरेशन या सर्जरी से गुजरे है तो आप इस समस्या का सामना कर सकते है, इस समस्या में घबराए नही चिकित्सीय सलाह लें और अच्छी डाइट को फॉलो करें। अगर आप Telogen Effluvium के बारे में अधिक जानना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर आप इसके बारे में विस्तार से जान सकतें है। जिस से आपको इस समस्या को अच्छी तरह जान कर इसके निदान में सहायता मिलेगी।
Read More About Telogen Effluvium Here

आनुवंशिकता एक बड़ा कारण (Heredity reason)
अनुवांशिकता बालो के झड़ने का एक बड़ा कारण होता है। यह समस्या आपको आपके परिवार में सभी को देखने मे मिल सकती है क्योंकि ऐसा एक विशिष्ट जीन के कारण होता हैं। सबसे पहले आप अपने पिता के परिवार और माता के परिवार पे नज़र डालिये और देखिए दोनो परिवारों में से किसी भी परिवार में गंजापन की समस्या तो नही है। हालांकि यह समस्या 90% माता के परिवार से ही बच्चे को विरासत में मिलती है। अगर ऐसा है तो निश्चित ही आपके बाल झड़ेंगे ओर आप गंजे हो सकते है इस समस्या का साइंस में अभी तक कोई समाधान नही है। बस आप अपने बालों के गिरने की गति को कुछ कम कर सकते है। ऐसा करने के लिए बाजार में बहुत सी कैमिकल वाली दवाएं उपलब्ध है जिनमे Minoxidil प्रमुख है जो कि FDA द्वारा प्रमाणित है।

पाचन तंत्र का खराब होना (Digestive Problem)
आजकल की भाग-दौड़ भारी जीवनशैली में पाचन किर्या का खराब होना एक आम बात है। आप अपने शरीर को जरूरी व्यायाम नही दे पाते जिस वजह से आपकी पाचन क्रिया कमज़ोर हो जाती है और वह भोजन का पाचन सही तरीके से नही कर पाती, जिस से आपको आपके बालों और शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्व आपके भोजन से नही मिल पाते परिणामस्वरूप आपके बाल जड़ो से कमज़ोर होकर टूटने लग जाते है। अगर आप भी ऐसी ही समस्या से गुज़र रहें है तो अपनी जीवनशैली को सुधारने का प्रयास करें, अच्छा पोषक ओर संतुलित भोजन करने के साथ साथ प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट तक योगा या अन्य व्ययाम अवश्य करें।

मानसिक तनाव एक वजह (Mentally stress)
अगर आप जीवन में किसी समस्या से गुज़र रहें है जिस वजह से आप बहुत ज्यादा मानसिक तनाव से ग्रसित हैं तो निश्चित ही आपको सिर्फ हेयर फॉल ही नही बल्कि बहुत सी कई स्वास्थ्य समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं। मानसिक तनाव एक ऐसी स्थिति है जो आपके शरीर को अंदर से खोखला बना देती है। तनाव की स्थिति में बाल बहुत तेज़ी से झड़ने लगते है और आप कम आयु में ही गंजेपन का शिकार हो सकते हो। ऐसा होने पर आपको जल्द से जल्द तनाव से बाहर आने की कोशिश करनी चाहिए। मस्तिष्क को अलग अलग काम मे लगाना चाहिए जी से वह उस तनाव से बाहर आ सके। दोस्तो को अधिक समय दीजिये, खुद को व्यस्त रखिये जिस से काफी हद तक आपको तनाव से बाहर आने में मदद मिलेगी।

अधिक समय तक कैमिकल प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करना (Using excessive chemical products)

आजकल की स्टाइल भरी जीवनशैली में हम सभी बहुत से कैमिकल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं जैसे हेयर जेल्स, हेयर स्प्रै, हेयर कलर्स औऱ हेयर स्ट्रैटनर्स आदि जिनमे बहुत अधिक मात्रा में कैमिकल होता है जो धीरे धीरे बालो की जड़ो को कमज़ोर कर देता है जिस से बाल पतले होकर धीरे धीरे झड़ने लगते है इसके अलावा अत्याधिक प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से यह प्रोडक्ट्स आपकी स्केल्प पर धीरे धीरे जम जाते है जिस से आपके बालों के रोम छिद्र डैमेज हो जाते है और वह नए बालो को नही उगा पाते।
अगर आप भी अत्याधिक कैमिकल प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल की वजह से हेयर फॉल का सामना कर रहें है तो में आपको एक बार हेड शेव कराने की सलाह दूंगा जिस से आपके स्केल्प पर जमा सभी अपशिष्ट उत्तर जाएगा और आपके बालों के रोम छिद्रों को दोबारा सांस लेने का मौका मिलेगा पर अगर आप महिला हैं या किसी ओर वजह से आप हेड शेव नही करा सकते तो आप प्रोडक्ट रिमूवर शेम्पू के साथ जा सकते है यह शेम्पू बाजार में बहुत से ब्रांड्स में उपलब्ध हैं। इन शेम्पूज़ का इस्तेमाल महीने में सिर्फ एक या अत्याधिक दो बार ही करें।

बालो की स्टाइल को बहुत अधिक बदलना (Changing too much Hairstyles)

बहुत से लोग, खासकर यूवाओं में देखा गया है कि किसी भी शादी या फंक्शन में उनका हमेशा लुक व हेयर स्टाइल हमेशा चेंज होता है। वह हमेशा अलग अलग जगहों पर जाने से पहले अपना हेयर स्टाइल बदलते है। जिस वजह से आपको बालों की झड़ने की समस्या देखने को मिल सकती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस से बालों के फॉलिकल्स पर बहुत अधिक तनाव पड़ता है जिस कारण वह डैमेज हो जाते है और यह आपको परमानेंट हेयर लॉस दे जाता है। महिलाओं में sleek ponytail, cornrows, और tightly pulled updo हेयर स्टाइल्स बहुत अधिक प्रचलन में है। पर इन हेयर स्टाइल्स की वजह से बाल उनके फॉलिकल्स से बहुत अधिक खींचते है जिस से हेयर फॉलिकल परमानेंट डैमेज हो जाता है। आप ऐसी हेयर स्टाइल्स से बचें जिनमे बाल बहुत अधिक खिंचाव महसूस करते हों इसके अलावा बालो को एक सरल स्टाइल दें क्योंकि बाल बचेंगे तभी आप उन्हें स्टाइल कर पाएंगे।

डैंड्रफ के कारण टूट सकते है आपके बाल ( Dandruff problem)

अगर आपके बाल बहुत तेज़ी से झड़ रहें है तो इसका एक बड़ा कारण डैंड्रफ हो सकता है। डैंड्रफ एक स्केल्प इन्फेक्शन है जो एक सफेद परत के रूप में आपकी सर की त्वचा पर जम जाता है जिस वजह से आपके बालों को सही पोषण नही मिल पाता और वह कमज़ोर होकर धीरे धीरे झड़ने लगते हैं। बालो के झड़ने की समस्या का एक बड़ा कारण डैंड्रफ ही है। अगर आपके बाल बहुत तेज़ी से झड़ रहें हैं तो अपने सर की त्वचा को हल्का से रगड़ कर देखिए यदि आपके कपड़ो पर सफेद प्रकार की कोई चीज़ गिरी हुई मिलती है तो आप डैंड्रफ की समस्या से ग्रसित हैं। समय रहते इसका इलाज करवाएं वरना यह आपको परमानेंट हेयर लॉस दे सकता है।

बालो को असमय गिरने से (Hair loss) रोकने के आसान उपाय

बालो की केअर करना बहुत ही जरूरी है क्योंकि यह बहुत ही नाज़ुक होते है। अगर इनकी केअर ना कि जाए तो यह कमज़ोर ओर बेजान होकर झड़ने लगते हैं। बालो को गिरने से रोकने के लिए सबसे पहले आवश्यक है कि आप उसकी वजह ढूंढे, अगर आप उसकी वजह ढूंढ लेंगे तो इस समस्या का इलाज करने में आपको बहुत सहायता मिलेगी। कुछ कारण मेने ऊपर लिखे है आप उन्हें विस्तार से पढ़ कर अपने बालों के गिरने की वजह जान कर उसका आसानी से इलाज कर सकते हैं।
यहाँ में आपको स्पष्ट बता दूं कि किसी भी प्रकार का कैमिकल बालो के लिए सिर्फ हानिकारक होता है, चाहे फिर आप उसे बालों में शेम्पू के रूप में लगाएं या फिर तेल के रूप में, वह आपको नुकसान से ज्यादा कुछ नही देगा। हो सकता है उनको लगाने के बाद कुछ समय के लिए आपके बालों में चमक आ जाये या आपको उनका वॉल्यूम ज्यादा लगे। पर याद रखें ये सिर्फ कुछ समय के लिए है, यह निश्चित ही आपको नुकसान देगा। इसलिए जब आपको हेयर लॉस की समस्या होना चालू हो जाये तो आप सबसे पहले बाजार में उपलब्ध केमिकल वाले शैम्पू ओर तेल को त्याग दें। बालों को सिर्फ आंवला, शिकाकाई ओर रीठा के मिश्रण से धोएं। यह एक प्राकर्तिक क्लीज़नर है जो कि बालों में एक नई जान डालता है। अगर आप एक काम-काज़ी पुरुष या महिला है जिन्हें इतना समय नई मिलता तो आप बाजार में उपलब्ध आयुर्वेदिक ब्रांड्स जैसे हिमालया या बैद्यनाथ जैसे ब्रांड्स के शैम्पू इस्तेमाल कर सकते है जो कि बिल्कुल माइल्ड हों।

तो आप कभी अपने बालों पर कैमिकल्स इस्तेमाल करने की गलती ना करें अब में आप लोगो को बालों को गिरने से रोकने के कुछ उपाय बताने जा रहा हूँ।

बालो को झड़ने से रोकने के प्राकृतिक उपचार

गरम तेल से स्केल्प की मालिश
बालों में अगर फिर से नई जान डालने चाहते हैं तो सबसे आसान उपाय है सर पे तेल मालिश करना। तेल मालिश करने से स्केल्प पर रक्त संचार बढ़ता है जिस से आपके बालों के फॉलिकल्स में एक नई जान आ जाती है और वह बाल पहले से मजबूत और घने होने लगते है, रक्त संचार बढ़ने से बालों का टूटना तो कम होता ही है साथ मे नए बाल भी आना शुरू हो जाते हैं। इस विधि को अपनाने के लिए में आपको सलाह दूंगा की आप किसी अच्छे आयुर्वेदिक ब्रांड का तेल लें, व्यक्तिगत में आपको बैद्यनाथ महाभृंगराज तेल की सलाह दूंगा। इस तेल का रिव्यू मेने इसी ब्लॉग में किया है जिसकी लिंक नीचे है आप इस तेल का रिव्यू पढ़ सकते हैं। इस तेल को रात को सोते समय हल्का गुनगुना कर के स्केल्प पर उँगलियों की सहायता से लगाए और 15 से 20 मिनट तक मालिश करें, सुबह उठकर किसी माइल्ड शैम्पू से धो लें। ऐसा सप्ताह में 2 बार अवश्य करें
Read Here Full Review Of Baidyanath Mahabhringraj Oil In Hindi

स्कैल्प पर प्राकृतिक रस आजमाएं
स्केल्प पर लहसुन, प्याज़ या अदरक का रस लगाएं। इन तीनो में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। जिस से किसी भी प्रकार के संक्रमण से छुटकारा मिलता है। प्याज के रस में प्रचूर मात्रा में सल्फर होता हैं जिस से स्केल्प में रक्त संचारण बढ़ता है औऱ बालो का घनत्व बढ़ता है। इसके लिए आप तीनों में से किसी भी एक के रस को नारियल के तेल के साथ स्केल्प पर लगायें ओर अगले दिन सुबह किसी माइल्ड शेम्पू से सर धो लें। ऐसा आप सप्ताह में दो बार कर सकते हैं।

मेथी के दानों से रोकें बालो का गिरना
मेथी के नियमित प्रयोग से बाल मजबूत, चमकीले और काले बने रहते है। ये आप के हेयर फॉलिकल्स को मजबूती प्रदान करता है, जिस से बाल जड़ से मजबूत बनते है। इसके उपयोग के लिए आप मेथी के दानों को पानी मे भिगोएं फिर उसका पेस्ट बना कर सर में लगा लें। अच्छी तरह से मसाज करें ओर आधे घण्टे के लिए छोड़ दे। फिर सर अच्छी तरह से धो लें। आप ऐसा महीने में कम से कम चार बार करें।

आहार में प्रोटीन युक्त भोजन शामिल करें
आपके बाल एक प्रकार की मृत कोशिका ही है जिनके निर्माण के लिए प्रोटीन बहुत आवश्यक है। इसलिए अपने आहार में प्रोटीन युक्त भोजन अवश्य लें, इसके लिए आप भोजन में अंडे, मछली व कम चर्बी वाले मांस खा सकते हैं पर अगर आप शाकाहारी है तो अपने भोजन में सोया, दूध, दही या पनीर आदि का इस्तेमाल अवश्य करें। यदि आप कामकाज़ी पुरुष या विद्यार्थी बेन जो घर से बाहर रह रहें हैं और समय पर अच्छा खाना नही खा पा रहे तो में आपको प्रत्येक सुबह एक अच्छे ब्रांड का प्रोटीन लेने की सलाह दूंगा।
Read About Herbalife protein powder In HIndi

तनाव मुक्त रहें
तनाव हेयर लॉस का सबसे बड़ा कारण हो सकता है। अगर आप भी किसी तनाव के चलते अपने बाल खो रहें है तो सबसे पहले आपको तनाव मुक्त होना पड़ेगा। इसके लिए आप मेडीटेशन कर सकते है। मेडिटेशन आपको तनाव कम करने और उसके वजह से हुए हार्मोनल इनबैलेंस को सही करने में सहायता प्रदान करेगा। इसके अलावा आप तनाव कम करने के लिए रोजाना व्यायाम करें ये भी एक कारगर तरीका है अपना तनाव कम करने का।

हरी सब्जियों का इस्तेमाल कर्रें
अपनी लाइफ स्टाइल को सुधारें, खानपान पर ध्यान दें व हो सके जितना अपने भोजन में हरी सब्जियों को इस्तेमाल करें। क्योंकि इनमें कैल्शियम, आयरन जिंक व प्रोटीन होता है जो आपके बालों के लिए बहुत जरूरी है। अगर आप के बाल जड़ से डैमेज हो चुके हैं और पतले वो कमज़ोर होकर टूट रहें है तो इनमें अन्दर से पोषण की कमी है जो इन पोषक तत्वों से ही पूरी की जा सकती है। इसलिए अपने आहार में हरी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें।

गीले बालों में कंघी करने से बचे
कुछ व्यक्तियों में देखा गया है कि नहाने के तुरंत बाद वे बालों में कंघी करते हैं और कंघी करते समय बहुत से बाल कंघियों में टूट कर फस जाते है, क्योंकि गीले बालों में उनकी जड़े कमज़ोर होती है। जिन पर ज़ोर ज़ोर से कंघी करने से हेयर फॉलिकल्स हमेशा के लिए डैमेज हो सकते हैं। इसलिए नहाने के बाद बालों को अच्छी तरह से टॉवेल से सुखाएं उसके बाद ही अपने बालों को कंघी या स्टाइलिंग करें।

आंवला झड़ते बालों के लिए रामबाण
बालो के झड़ने या टूटने का एक बड़ा कारण विटामिन C की कमी भी है, जिसके लिए आंवला एक प्रभावी घरेलू उपाय है। अगर आप विटामिन C की कमी की वजह से बालों की समस्या से जूझ रहे है तो आज ही आंवला का सेवन चालू कीजिये, यह आपके हेयर फॉलिकल्स को मजबूत करेगा। इसके एन्टी-इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) व एक्सफोलिएटिंग (exfoliating) गुण बालो के तेज विकास में सहायक हैं।
1. इसका पेस्ट बनाने के लिए आप नींबू के रस और आंवला पाउडर को मिला लें।
2. इसे अपने स्कैल्प और बालों पर मसाज करें।
3. अपने सिर को ढंकने के लिए शॉवर कैप का उपयोग करें ताकि पेस्ट सूख न जाए।
4. इसे एक घंटे तक रखें और फिर इसे सामान्य पानी से धो लें।

एलोवेरा का प्रयोग झड़ते बालो के लिए
बालों के झड़ने से रोकने और बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए एलो वेरा एक प्रभावी घरेलू उपचार है। यह स्कैल्प की समस्या जैसे खुजली, संक्रमण ओर डैंड्रफ के इलाज में भी काफी कारगर है। इसके अलावा इसका नियमित प्रयोग बालो को मुलायम और चमकदार भी बनाता है।
1. एलोवेरा का पत्ता लें और उसका जैल निकालें
2. अब इसको सीधा अपने बालों और स्केल्प पर लगाएं और 45 मिनट्स के लिए छोड़ दें
3. बेहतर परिणाम के लिए इसका सप्ताह में 3 बार प्रयोग करें

नियमित व्यायाम बालों की सेहत के लिए जरूरी
नियमित व्यायाम आपके शरीर में रक्त का संचार बढ़ता है इसके अलावा व्यायाम से तनाव भी बहुत तेज़ी से घटता हैं। बालो को झड़ने से बचाने के लिए काफी योगा व्यायाम होतें है जिन्हें आप इंटरनेट की सहायता से खोजकर अपने नियमित व्यायाम में शामिल करें, इस के अलावा साइकिलिंग, तैराकी और रनिंग भी आपके शरीर में रक्त संचार बढ़ाने में सहायक है। अगर आपके शरीर मे प्रोटीन या विटामिन्स की कमी की वजह से बाल झड़ रहें है। और आप उनकी कमी को पूरा करने के लिए कोई सप्लीमेंट्स ले रहे है पर फायदा नही हो रहा तो इसका एक बड़ा कारण यही है कि आप उसके साथ एक्सरसाइज नही कर रहें जिस वजह से आपका शरीर उस सप्लीमेंट को पचाने में असफल हो रहा है। इसलिए नियमित व्यायाम आपके शरीर के लिए बहुत ही जरूरी है।

नारियल के तेल का करें प्रयोग
नारियल का तेल हमारे बालो की सेहत के लिए बहुत ही जरूरी है। इसके नियमित इस्तेमाल से बाल मजबूत, चमकदार व घने होते है। यह बालों को अच्छी तरह से मॉइस्चराइज भी करता है जिस से बाल कड़े होकर टूटने से बचते हैं। रात को सोते समय इस तेल को हल्का सा गुनगुना कर स्केल्प व बालो पर अच्छी तरह से मालिश करें व शॉवर कैप लगा लें। सुबह उठकर किसी अच्छे माइल्ड शेम्पू से इसे धो लें।
Read Also Vitamin B 12 Deficiency And Sources

बालो को झड़ने से रोकने के लिए प्रभावी घरेलू नुस्खे

• अगर आप के स्केल्प पर किसी तरह का संक्रमण है या बहुत अधिक डेंड्रफ की वजह से आप हेयर फॉल का सामना कर रहें हैं तो खट्टी दही में थोड़ी फिटकरी व हल्दी मिलाकर इसे स्केल्प पर लगाये व 45 मिनट्स के लिए छोड़ दें, ऐसा सप्ताह में दो बार करें, बहुत जल्दी आराम मिलेगा
• महीने में कम से कम 4 बार अपने बालों में जैतून के तेल का प्रयोग अवश्य करें, इस तेल के प्रयोग से हेयर फॉलिकल्स मज़बूत होते है व सफेद बालो से भी छुटकारा मिलता है
• अगर बाल झड़ रहें है तो इसका तनाव अपने पर हावी बिल्कुल ना होने दे क्योंकि यह स्थिति को और खराब कर सकता है
• कभी भी बालों के साथ ज्यादा एक्सपेरिमेंट बिल्कुल ना करें क्योंकि एक समय पर बालो के साथ भिन्न भिन्न प्रकार के एक्सपेरिमेंट बालो की जड़ो को कमज़ोर कर देते हैं। पहले आपके बालों के झड़ने की समस्या को ढूँढे फिर उस पर काम करें।
• अपना हाइजीन (साफ-सफाई) मेंटेन रखें क्योंकि पसीना व धूल-मिट्टी आपके बालों की जड़ों में पहुंचकर उसको कमज़ोर बना देती है, इसके लिए जरूरी है आप सप्ताह में कम से कम तीन बार अच्छे माइल्ड शेम्पू से बालो को धोएं
• ग्रीन टी को अच्छी तरह पानी में उबाल कर उसको अच्छी तरह ठंडा कर लें फिर इसे बालो की जड़ो व बालो में लगकर 2 घण्टे के लिए छोड़ दे, तत्पश्चात उसकी पानी से सर धो लें। डेंड्रफ से छुटकारा मिलेगा व बाल तेज़ी से विकास करेंगे
• बालो को स्वस्थ रखने के लिए हमेशा प्रोटीन युक्त आहार लें। अगर व्यस्त लाइफ होने की वजह से ऐसा करने में असमर्थ हैं तो एक अच्छा हेयर सप्लीमेंट इस्तेमाल करें
• अगर आपके बाल रूखे व बेजान हो चुके हैं तो बालो में शहद लगाकर आधे घण्टे के लिए छोड़ दे फिर उसे माइल्ड शेम्पू से धो लें , सप्ताह में दो से तीन बार में इसका प्रयोग आपको बहुत अच्छे परिणाम देगा
• कैमिकल युक्त शेम्पू का बिल्कुल इस्तेमाल करें, आप घर पर ही बेसन शेम्पू, मुल्तानी मिट्टी से बना शेम्पू या आंवला-रीठा-शिकाकाई से बना शेम्पू यूज़ कर सकते है। अगर आपको इन अलग अलग शेम्पू को बनाने की विधि जान नी है तो मुझे नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं
• अगर आप बालों में कुदरती चमक चाहते हैं तो बालो में मेहंदी व दही का मिश्रण लगाएं

तो दोस्तो इस आर्टिकल मेने आपको बताया कि समय रहते आप कैसे अपने झड़ते बालो की वजह ढूंढकर उनका इलाज कर सकते है। अगर आपिस आर्टिकल में दिए गए टिप्स अच्छे से फ़ॉलो करते हैं तो निश्चित ही आपको झड़ते बालो की परेशानी से छुटकारा मिलेगा ओर आप उन लोगो की तरह पछतावा नही करेंगे जिन्होंने समय रहते अपने झड़ते बालो के लिए कुछ किया ही नही ओर आज वो गंजेपन का शिकार हैं और महंगे हेयर ट्रांसप्लांट जैसी चीज़ों का सहारा लें रहे है। समय रहते अपने बालों की केअर शुरू कर दीजिए यक़ीन मानिये इनके बिना आपकी पर्सनैलिटी कुछ भी नही है। अगर आपके मन मे अभी भी कुछ सवाल हैं तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में बता सकते है में व्यक्तिगत रूप से आपकी पूरी सहायता करने की कोशिश करूँगा।

उम्मीद करता हु आपको मेरा ये आर्टिकल How To Control Hair Loss In Hindi / Balo ko Jhadne Se Kaise Roke जरूर पसंद आया होगा। मुझे कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं, तो प्रिय पाठकों मिलते हैं अगले आर्टिकल में।
Previous
Next Post »